अमेरिका की सड़कों पे कोहराम

वॉशिंगटन। अमेरिका में एक अश्वेत व्यक्ति की पुलिस हिरासत में हुई मौत के बाद व्हाइट हाउस के पास विरोध प्रदर्शन को देखते हुए वाशिंगटन डी.सी सहित 40 शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। वाशिंगटन डी.सी की मेयर मूरियल बोसर ने कहा कि मिनियापोलिस की पुलिस हिरासत में एक निहत्थे अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद व्हाइट हाउस के बाहर रविवार रात को प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर वह शहरव्यापी कर्फ्यू लगा रही हैं।

इस पूरे विवाद ओ अब रंगभेद से जोड़कर देखा जाने लगा है। जिसकी शुरुआत एक अश्वेत व्यक्ति की पुलिस कस्टडी में मौत हुई थी जिसका वीडियो भी वायरल हो गया था। जॉर्ज फ्लॉयड नाम के व्यक्ति को पुलिस धोखाधोड़ी के आरोप में पकड़ने गई थी। जॉर्ज को देखते ही पुलिस ने उसे हथकड़ी लगाकर पकड़ने की कोशिश की। जॉर्ज ने इसका विरोध किया। विरोध के जवाब में डेरेक चॉविन नाम के एक पुलिस अधिकारी ने जॉर्ज के साथ ज़बरदस्ती की और उन्हें ज़मीन पर पटक दिया। सड़क पर खड़ी एक कार के पिछले पहिये के पास ज़मीन पर जॉर्ज पड़े थे। और उनके ऊपर चढ़े डेरेक चॉविन ने अपने बायें पैर से जॉर्ज का गला दबाया हुआ था और वो भी पूरे सात मिनट तक। इस दौरान जॉर्ज रोतो रहे। छटपटाते रहे और बोलते रहे कि उन्हें सांस नहीं आ रही है। मुझे छोड़ दो। इस पूरे वाकये को एक महिला ने कैमरे में कैद कर लिया। पुलिसकर्मी के लगातार गर्दन दबाए रखने की वजह से जॉर्ज की मौत हो गई और तभी से अमेरिका में आंदोलन शुरू हो गया।

अमेरिका में ये पहला मामला नहीं है जब रंगभेद की वजह से ऐसा आंदोलन देखने को मिला हो। 2014 में भी ठीक इसी तरह का एक कत्ल पुलिस की हिरासत में हुआ था, तब भी मारे गए व्यक्ति के आखिरी तीन शब्द ‘I CANT BREATHE’ ही थे और अब ऐसा लग रहा है मानो अमेरिका में पुराना इतिहास फिर से दोहराया जा रहा है।

YouTube
LinkedIn
Share