प्रेम संबंध बनी बच्चन के मौत की वजह

उत्तर प्रदेश पुलिस ने विश्व हिन्दू महासभा के अध्यक्ष रणजीत बच्चन की हत्याकांड को लेकर बड़ा खुलासा किया। पुलिस ने हत्या में शामिल तीन आरोपियों को ​गिरफ्तार किया गया। वहीं, घटना में शामिल शूटर जीतू अभी भी फरार है। पुलिस ने बताया कि रणजीत की दूसरी पत्नी स्मृति ने अपने प्रेमी देवेन्द्र के साथ मिलकर उसकी हत्या की है।

पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में घटना का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि रणजीत बच्चन की हत्या के लिए स्मृति ने ही प्रेमी देवेंद्र को उकसाया था। पुलिस ने हत्या की वारदात में शामिल स्मृति श्रीवास्तव, देवेंद्र और संजीत गौतम को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि वारदात को अंजाम देने वाला शूटर जीतेंद्र अभी फरार है। पुलिस ने स्मृति को लखनऊ से, देवेंद्र को यूपी-एमपी बॉर्डर से और संजीत गौतम को मोहनलालगंज के जबरौली से गिरफ्तार किया गया है।

तलाक देना चाहती थी स्मृति

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि पूछताछ में पता चला कि स्मृति और देवेन्द्र शादी करना चाहते थे, लेकिन रणजीत बाधा बने हुए थे, वह उसे तलाक नहीं दे रहे थे। ये मामला 2016 से कोर्ट में भी लंबित था। इसके बाद स्मृति और देवेन्द्र ने रणजीत बच्चन को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। इस वारदात में संजीत गौतम भी शामिल था।

स्मृति ने रणजीत के साथ जाने से किया था मना

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि स्मृति और रणजीत की 17 जनवरी को शादी की वर्षगांठ थी, जिसे सेलिब्रेट करने के लिए रणजीत अपनी पत्नी स्मृति को लेकर एक होटल में जाना चा​हता था, लेकिन स्मृति ने मना कर दिया था। इसके बाद रणजीत भड़क गए और स्मृति का थप्पड़ जड़ दिया। स्मृति ने ये बात अपने प्रेमी देवेन्द्र को बताई, जिस पर देवेन्द्र आग बबूला हो गया और उसने रणजीत को जान से मारने का फैसला लिया।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn