टीम-9 की बैठक में बोले सीएम योगी, मरीजों को एंबुलेंस नहीं मिली तो होगी कड़ी कार्रवाई

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने सभी जिलाधिकारियों को एंबुलेंस संचालन पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि सभी मरीजों को समय से एम्बुलेंस मिलनी चाहिए, इसमें लापरवाही स्वीकार्य नहीं है. इसके साथ ही सीएम योगी ने कहा कि, किसी भी दशा में मरीज अथवा उनके परिजन का उत्पीड़न न हो. इसमें अगर किसी प्रकार की लापरवाही की शिकायत मिली तो कार्रवाई की जाएगी. सीएम ने सभी जिलाधिकारिकों को अपने जनपदों में एम्बुलेंस संचालन की व्यवस्था पर सतत नजर बनाए रखने के निर्देश दिए.

टीम-9 की बैठक में मुख्यमंत्री ने सोमवार को कहा कि आयुष्मान योजना से वंचित परिवारों के लिए गोल्डन कार्ड बनाने का विशेष अभियान जारी है. 26 से 31 जुलाई की अवधि में ही दो लाख 46 हजार नए लोगों को मुफ्त चिकित्सा की इस योजना से जोड़ा गया है. इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम को ठीक से संचालित किया जाए. इसके अतिरिक्त, ऐसे अन्त्योदय कार्ड धारक परिवार, जो प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अथवा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में से किसी भी योजना से आच्छादित नहीं हैं, उन्हें मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल करने का निर्णय लिया गया है. इस निर्णय से समाज के अंतिम पायदान पर खड़े अन्त्योदय कार्ड धारक परिवार को बीमारी की स्थिति में होने वाले खर्च से सुरक्षा मिलेगी. 40 लाख से अधिक अंत्योदय कार्ड धारक परिवार इस निर्णय से सीधे लाभान्वित होंगे. सभी पात्र लोगों को योजना का लाभ दिलाया जाए.

सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 5 अगस्त को प्रदेशवासियों को प्रधानमंत्री का सीधा मार्गदर्शन मिलेगा. राशन कार्ड धारकों से प्रधानमंत्री संवाद करेंगे. लगभग 80 हजार स्थानों पर कार्यक्रम होना प्रस्तावित है. जनप्रतिनिधियों, बोर्ड, निगमों के पदाधिकारियों की उपस्थिति भी रहे. इस संबंध में सभी से संवाद बना लिया जाए. इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम के लिए सेक्टर प्रणाली के आधार पर सभी जरूरी प्रबंध किए जाएं. अधिकाधिक टेलीविजन सेट, वीडियो वॉल लगवाएं जाएं. जिससे अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हो सकें.

नियोजित प्रयासों और जनसहभागिता से प्रदेश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है. यह अत्यंत सुखद है कि विगत तीन दिनों में एक भी संक्रमित की मृत्यु नहीं हुई. हर दिन ढाई लाख से तीन लाख टेस्ट हो रहें हैं, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.01 फीसदी तक आ गई है और रिकवरी दर 98.6 फीसदी है. आज जनपद अलीगढ़, अमरोहा, बदायूं, एटा, फर्रुखाबाद, हाथरस, कासगंज, कौशाम्बी, महोबा, प्रतापगढ़ और श्रावस्ती में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है. यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं. इस स्थिति को और बेहतर करने के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के अनुरूप सभी जरूरी प्रबंध किए जाएं.

ताज़ा समाचार

YouTube
LinkedIn
Share