भाजपा की डूबती नाव को अब संघ भी नहीं बचा सकता : अखिलेश यादव

लखनऊ : समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा है कि अपनी कठपुतली भाजपा सरकार (Bjp Government) को बचाने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) सक्रिय हो गया है. संघ इस बात से चिंतित है कि राज्य की भाजपा सरकार (Yogi Government) ने साढ़े चार साल बिता दिये और धेले भर का भी काम नहीं किया. इसलिए लखनऊ में हुई संघ की समन्वय बैठक में फिर से मतदाताओं को बहकाने-भटकाने की रणनीति तय की गयी है. दिखावे के लिए कथित सेवा को भी राजनीति में घसीटने का प्रयास है.

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बयान जारी कर कहा कि संघी निर्णयों से भाजपा की चुनावी दिशा का स्पष्ट संकेत मिलता है. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के पक्ष में जनता के बढ़ते रूझान को देखते हुए संघी वास्तव में बदहवासी के शिकार हो चले हैं. उत्तर प्रदेश के विकास में भाजपा ही सबसे बड़ा रोड़ा साबित हुई है. साढ़े चार साल में भाजपा ने जनता को धोखा पर धोखा दिया है. विकास अवरूद्ध हुआ है. गरीब, किसान, नौजवान, श्रमिक, व्यापारी, महिला सहित समाज के सभी वर्गों के लोगों को मंहगाई, बेकारी, प्रशासनिक उत्पीड़न का शिकार होना पड़ रहा है. प्रदेश को भाजपा सरकार ने हर क्षेत्र में फिसड्डी बना दिया है.

योगी सरकार (Yogi Government) पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि जब भाजपा की नाव डूब रही है तब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) की शरण में जाने से भी क्या होगा? खुद संघ महानगरों की शाखाओं में सीमित है. गांव-किसान-मजदूर से उसका कोई नाता-रिश्ता नहीं है. लोकतांत्रिक मूल्यों से उसे परहेज है. पद संचलन के नाम पर सिर्फ सड़क पर उनका डण्डा-प्रदर्शन ही दिखता है. सेवा क्षेत्र में संघ की कहीं कोई उपस्थिति कोरोना संक्रमण काल में दिखाई नहीं दी. उन्होंने संघ पर निशाना साधते हुए कहा कि वह निरर्थक मुद्दे उठाकर समाज के एक वर्ग को आतंकित करती है और समाज में विघटन के बीज बोती है. जनता संघ-भाजपा दोनों की सच्चाई जानती है. प्रदेश में जनता ने समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने का इरादा कर लिया है. भाजपा जनादेश का अपमान कर लोकतंत्र की हत्या कर रही है. जनादेश के अपमान का पाठ अब जनता ही उसे पढ़ाएगी. उन्होंने कहा कि सन् 2022 के विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) में भाजपा का सूपड़ा साफ होना तय है.

वहीं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर डॉ. मोहम्मद आफताब आलम दरियाबाद, जनपद प्रयागराज को समाजवादी शिक्षक सभा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में उपाध्यक्ष नामित किया गया.

YouTube
LinkedIn
Share