उन्नाव रेप केस: ड्राइवर और क्लीनर का होगा नार्को टेस्ट

उन्नाव रेप पीड़िता की कार दुर्घटना मामले में सीबीआई की टीम आज यानी मंगलवार को भी ट्रक ड्राइवर और क्लीनर का विशेष जांच करवाएगी। सीबीआई की टीम गुजरात के गांधीनगर स्थित एफएसएल लैब में दोनों का ब्रेन इलेक्ट्रॉनिक ऑसिलेशन और सिग्नेचर प्रोफाइलिंग टेस्ट करवाएगी। इससे पहले सोमवार को दोनों आरोपियों का लगभग नौ घंटे तक परीक्षण हुआ था। मंगलवार को ये परीक्षण करीब 12 घंटे से ज्यादा तक चलेगा।

सोमवार को सीबीआई ने एफएसएल लैब में जांच करने वाली टीम को दुर्घटना से जुड़े कई फोटोग्राफ और वीडियो सौंपे थे। मंगलवार को भी इसी टेस्ट से जुड़े अन्य टेस्ट भी करवाए जाएंगे। बता दें कि मामले की विस्तृत रिपोर्ट के लिए सीबीआई दोनों आरोपियों का मेमोरी रिकॉल टेस्ट और नार्को टेस्ट करवाना चाहती थी, इसलिए दोनों को यहां लाया गया था। इन शुरुआती टेस्ट के बाद नार्को टेस्ट के लिए कुल पांच दिन की जरूरत होगी।

दिल्ली के एम्स में पीड़िता और वकील का हो रहा है इलाज

बता दें कि पिछले महीने रायबरेली से उन्नाव वापस लौटते समय पीड़िता की कार का एक्सीडेंट हो गया था। उसकी कार को सामने से आ रहे ट्रक ने टक्कर मार दी थी। इस दुर्घटना में पीड़िता की चाची और मौसी की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि पीड़िता और उसके वकील महेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इन दोनों का कुछ दिनों तक लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा था। लेकिन बाद में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद दोनों को एयरलिफ्ट कर दिल्ली के एम्स में एडमिट कराया गया। यहां अभी भी दोनों की हालत नाजुक बनी हुई है।

ग्राम्य संदेश डेस्क

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn