रामकथा में है मोह को नष्ट करने की शक्ति: पंडित विजय राघव

धनघटा: तहसील क्षेत्र के झिंगुरा पार गांव में चल रही रूद्र महायज्ञ में अयोध्या धाम से आए पंडित विजय राघव दास जी रामायणी ने रविवार को रात्रिकालीन कथा के दौरान कहा कि श्री राम कथा में मोह को नष्ट करने की शक्ति होती है।
उन्होंने कथा प्रसंग को आगे बढ़ाते हुए कहा कि महा मोह महिषेश विशाला, रामकथा कलिकाल कराला….

बताया कि मोह को नष्ट करने की शक्ति श्री राम जी में है। लेकिन महा मोह को नष्ट करने की क्षमता केवल राम कथा में है। आज इस भीषण कलयुग में जहां सर्वत्र त्राहि-त्राहि मची हुई है। ऐसे समय में केवल राम कथा श्रवण कर उसे जीवन में उतारने की आवश्यकता है। उनके अनुसार महा मोह महान असुर महिषासुर है। जिसे नष्ट करने के लिए साक्षात भगवती दुर्गा को काली का रूप धारण करना पड़ा था। ठीक उसी प्रकार इस कलयुग में राम कथा ही मातृशक्ति काली है। जो हमारे अज्ञान रूपी महिषासुर को नष्ट करती है। इस मौके पर मनीराम चौधरी,हरी राम चौधरी,परशुराम चौधरी और यज्ञ आचार्य वाचस्पति दुबे समेत ग्राम व क्षेत्र की जनता मौजूद रही।

रिपोर्ट – पूनम पांडे

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn