पूर्व सीएम अखिलेश के रिश्तेदार के साथ हुई ठगी

उत्तर प्रदेश के जनपद कासगंज में पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के रिश्तेदार ठगी के शिकार हो गए हैं। उन्होंने तीन नामजद लोगों के खिलाफ कोतवाली सदर में केस दर्ज कराया है। बताते चलें कि पूर्व सीएम अखिलेश यादव के रिश्तेदार कासगंज में सात लाख रुपये की ठगी का शिकार हो गए हैं। एक साल पहले हुई इस ठगी के मामले में जब जालसाज ने धनराशि लौटाने और भूखंड का बैनामा कनरे से मना कर दिया तो पीड़ित सपा नेता ने कासगंज कोतवाली में तीने के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

जमीन के नाम पर ठगी

कोतवाली सदर क्षेत्र के गांव कादरपुर निवासी सौरव यादव पुत्र प्रेमपाल यावद उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के करीबी रिश्तेदार हैं। वह गांव कादरपुर के प्रधान भी रह चुके हैं उन्होंने कोतवाली सदर में मुकदमा दर्ज कराकर जमीन का बैनामा कराने के नाम पर ठगी का आरोप लगाया है। सपा नेता सौरव यादव का आरोप है कि एक वर्ष पहले सहावर थाना क्षेत्र के गांव कुंवरपुर निवासी चिंटू उर्फ शैलेंद्र ने एक जमीन का सौदा कराया था। इसमें भूखंड मानपुर नगरिया के बाबर की मां फातिमा के नाम से था, जिसका आरोपियों ने सात लाख रुपये में बैनामा कराने की बात कही थी। लेकिन आरोपी बैनामा नहीं करा सके।

सौरभ यादव ने पुलिस को बताया कि उनके बहनोई सेना में कर्नल हैं जो असम में तैनात हैं। वे कासगंज में जमीन तलाश रहे थे। इसलिए उन्होंने अपने बहनोई के लिए जमीन का सौदा तय किया था। उन्होंने छह लाख रुपये चिंटू के खाते में डाले थे और एक लाख का भुगतान बाबर की मां के खाते में कर दिया था। आरोपी एक साल तक बैनामा के लिए टालते रहे।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn