बिहार की बेटी बनी नौसेना की पहली महिला पायलट

बिहार – अगर हौसला हो तो आसमान में भी छेद क‍िया जा सकता है। जी हां कुछ ऐसा ही बिहार की बेटी लेफ्टिनेंट शिवांगी साबित करने जा रही है। जी हां आज का दिन भारतीय नौसेना के लिए भी ऐतिहासिकक होने जा रहा है। 4 दिसंबर को होने वाले नौसेना दिवस से महज दो दिन पहले ही 2 दिसंबर यानी आज लेफ्ट‍िनेंट शिवांगी भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट के रूप में नौसेना के अभियानों में शामिल होने जा रही हैं।

आज से नौसेना के अभियानों में शामिल होने के साथ ही वह नौसेना की पहली मह‍िला पायलट बन जाएंगी। नौसेना में फिक्स्ड विंग डोर्नियर सर्विलांस विमानों की उड़ान भरने के लिए उन्होंने प्रशिक्षण पूरा कर लिया है। बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वाली सब-लेफ्टिनेंट शिवांगी ने कोच्चि में अपनी ट्रेनिंग पूरी कर ली है। ट्रेनिंग पूरी करने के बाद वह नौसेना के डोरनियर एयरक्राफ्ट के कॉकपिट में उड़ान भरने के लिए तैयार हुईं है। नौसेना के मुताबिक, सब-लेफ्टिनेंट शिवांगी ने शार्ट‌ सर्विस कमीशन (एसएससी) का 27वें एनओसी कॉर्स‌ के रूप में ज्वाइन किया था।

उन्होंने पिछले साल जून 2018 में केरल के ऐझीमाला स्थित इंडियन नेवल एकेडमी में अपनी कमीशनिंग ट्रेनिंग पूरी कर ली थी। इसके बाद उन्होंने डेढ़ साल तक पायलट की ट्रेनिंग पूरी की और नौसेना की पहली महिला पायलट बनीं। ऐसा पहली बार होगा, जब कोई महिला नौसना में पायलट के तौर पर ज्वाइन करने जा रही है। इतिहास रचने जा रही शिवांगी ने कहा कि वह देश की दूसरी मह‍िलाओं को भी इस ट्रेनिंग के लिए प्रेरित करना चाहती हूं ताकि महिलाएं कर‍ियर के रूप में इस ओर भी कदम बढ़ा सकें।

आज इतिहास रचने जा रही बिहार की बेटी मुजफ्फरपुर ज‍िले की रहने वाली हैं। उन्होंने यहां के डीएवी पब्‍ल‍िक स्‍कूल से 12वीं तक की पढ़ाई की। इसके बाद आगे की पढ़ाई उन्होंने सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी से की। उन्होंने यहां पर बीटेक में दाखिला ले लिया और यहां से अपनी आगे की पढ़ाई पूरी की। एझिमाला में पिछले साल जून में वाइस एडमिरल एके चावला द्वारा औपचारिक रूप से कमीशन दिया गया। हालांकि नेवी की एविएशन ब्रांच में एयर ट्रैफिक कंट्रोल ऑफिसर और विमान में ‘ऑब्जर्वर’ के रूप में पहले से ही महिला अधिकारी कार्यरत हैं।

रिपोर्ट – ग्राम्य संदेश डेस्क

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn