दवाओं में खराबी पाए जाने पर अब मार्केटिंग कंपनी भी होगी जिम्मेदार

दवाओं की क्वालिटी खराब पाए जाने पर अब दवाओं की मार्केटिंग करने वाली कंपनियां भी जिम्मेदार होंगी। सरकार ने ड्रग्स कॉस्मैटिक एक्ट में बदलाव कर इसे अमल में लाने के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। अब से पहले तक केवल मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों की ही जवाबदेही तय थी। अगले साल मार्च से यह नियम लागू हो जाएगा। वैसी बड़ी कंपनियां जो छोटी कंपनियों से दवा बनवाकर मार्केटिंग करती थीं, अब वह भी जिम्मेदारी होंगी। नए नियम में कहा गया है कि दवा में अगर मिलावट पाई गई तो आजीवन सज़ा होगी।

दवाओं को लेकर केंद्र सरकार की सबसे बड़ी सलाहकार संस्था ड्रग टेक्निकल एडवाइजरी बोर्ड ने वर्ष 2018 में इस बात की सिफारिश की थी, जो दवा बनाने वाली कंपनियां हैं, उनके साथ-साथ मार्केटिंग करने वाली कंपनियों को भी जिम्मेदार माना जाए।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn