अपने कर्मचारियों को 25 प्रतिशत अधिक सैलरी देगी यह कंपनी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से जहां कंपनियां कर्मचारियों का वेतन काट रही हैं और छंटनी की तैयारी में जुटी हैं वहीं आईटी कंपनी कॉग्निजेंट ने कर्मचारियों को अधिक सैलरी देने का फैसला किया है। कंपनी ने कहा है कि एसोसिएट और उससे निचले स्तर के कर्मचारियों को अप्रैल में मूल वेतन के आधार पर 25 प्रतिशत अतिरिक्त वेतन दिया जाएगा।

कंपनी के इस फैसले से भारत में उसके 1 लाख 30 हजार कर्मचारियों को फायदा होगा। दिसंबर 2019 के आंकड़े के मुताबिक भारत में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2 लाख 3 हजार है। भारत के अलावा यह घोषणा फिलीपींस के कर्मचारियों के लिए भी है।

अमेरिकी कंपनी ने कहा है कि कर्मचारियों को अतिरिक्त भुगतान अप्रैल के वेतन में किया जाएगा। कंपनी ने कोरोना संकट के समय भी कर्मचारियों के काम में जुटे रहने की वजह से उन्हें प्रोत्साहन के रूप देने की बात कही है।

कॉग्निजेंट के सीईओ ब्रायन हंफ्रीज ने कर्मचारियों को लिखे एक नोट में कहा है कि अतिरिक्त भुगतान अप्रैल महीने के वेतन के साथ किया जाएगा और कंपनी इस फैसले पर मासिक समीक्षा करेगी। इस महामारी को दुनिया के लिए सबसे बड़ा झटका बताते हुए हंफ्रीज ने कहा कि दूसरी अन्य वैश्विक कंपनियों की तरह उनकी कंपनी भी मांग और पूर्ति के मोर्चे पर चुनौती का सामना कर रही है, यह लंदन से मुंबई और मनाली से न्यूयॉर्क तक है।

उन्होंने कहा कि ऐसे मुश्किल समय में भी उसके कर्मचारी ग्राहकों के लिए सेवाओं को सुचारू बनाने में लगे हैं और वह उनके लगन, ईमानदारी और साहस की सराहना करते हैं। हंपरीज ने कहा कि भारत और फिलीपींस में हमारे एसोसिएट की सेवाओं को जारी रखने के असाधारण प्रयासों का हम सम्मान करते हैं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया में अधिकतर कंपनियों का कामकाज बुरी तरह प्रभावित हुआ है। कई कंपनियों ने कर्मचारियों के वेतन में कटौती शुरू कर दी है तो कई कंपनियों में छंटनी की तैयारी चल रही है। हालांकि, इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने व्यापार जगत से अपील की थी कि यदि उनके कर्मचारी आने वाले कुछ समय में काम पर ना आ पाएं तो उनके वेतन में कटौती ना की जाए। उन्होंने सभी से मानवीय दृष्टिकोण अपनाने की अपील की थी।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn