कोरोना वैक्सीन में भारत का अहम रोल होगा : बिल गेट्स

नई दिल्ली। भारतीय फार्मा इंडस्ट्री की ताकत के बारे में माइक्रोसाफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स का कहना है कि, भारत के पास बहुत अधिक क्षमता है। दुनियाभर में भारतीय दवा और वैक्सीन कंपनियां बड़ी संख्या में सप्लाई करती हैं। ज्ञात हो कि भारत में अन्य दूसरी जगह के मुकाबले अधिक वैक्सीन बनती हैं। इसमें सेरम इंस्टीट्यूट सबसे बड़ी मैन्युफैक्चरर है।

बिल गेट्स ने कहा कि भारत में बहुत महत्वपूर्ण चीजें हुई हैं। वहां की फार्मा इंडस्ट्री कोरोनावायरस वैक्सीन बनाने में मदद कर रही हैं, जैसाकि अन्य दूसरी बीमारियों से निपटने में उनकी व्यापक क्षमता का इस्तेमाल किया गया है।

बिल गेट्स ने कहा, कोरोना वैक्सीन में भारत का अहम रोल होगा। बिल गेट्स कहते हैं कि यहां बायो ई, भारत बायोटेक और अन्य दूसरी कंपनियां भी हैं। ये सभी कोरोनावायरस वैक्सीन बनाने में मदद कर रही हैं। जिस तरह उन्होंने अन्य दूसरी बीमारियों की वैक्सीन के मामले अपनी क्षमता दिखाई है। सेरम इंस्टीट्यूट सबसे बड़ी वैक्सीन मैन्युफैक्चरर कंपनी है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं उत्साहित हूं कि भारत की फार्मा इंडस्ट्री न केवल भारत के लिए, बल्कि पूरी दुनिया के लिए (वैक्सीन का) उत्पादन कर सकेगा। हमें मौत के आंकड़ों को कम करने, और यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि इस बीमारी को खत्म करने की प्रतिरक्षा हमारे अंदर है।

बिल गेट्स ने कहा कि बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन भी सरकार की एक साझेदार है और विशेष रूप से जैव प्रौद्योगिकी विभाग, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के कार्यालय के साथ मिलकर काम कर रहा है।

बता दें कि कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई, विषय पर बनी एक डॉक्यूमेंट्री में गेट्स ने कहा कि भारत स्वास्थ्य संकट के चलते एक भारी चुनौती से जूझ रहा है। अधिक और घनी आबादी इसकी एक बड़ी वजह है। इस डॉक्यूमेंट्री का प्रीमियम गुरुवार शाम डिस्कवरी प्लस पर प्रदर्शित होगा।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn