‘पापड़ी चाट’ कॉमेंट और पर्चा फाड़ सांसदों पर बरसे पीएम नरेंद्र मोदी, बताया संसद का अपमान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम मोदी एक बार फिर से संसद की कार्यवाही ठप रखने के लिए विपक्ष पर जमकर बरसे। पीएम मोदी ने इसे संसद, संविधान और लोकतंत्र का अपमान बताया। इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी के अन्य नेता शामिल थे। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि पीएम मोदी ने बैठक के दौरान टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन के ‘पापड़ी चाट’ वाले बयान को भी अपमानजनक बताया।

दरअसल, सोमवार को टीएमसी सांसद ने ट्वीट कर बिना बहस बिल पास करवाने को लेकर सरकार की आलोचना की थी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि कानून बना रहे हैं या पापड़ी चाट। तृणमूल सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट किया था, ‘पहले 10 दिनों में मोदी-शाह ने 12 बिल पास करवाए और औसतन हर बिल को सिर्फ 7 मिनट मिले। कानून बना रहे हैं या फिर पापड़ी चार्ट!’ डेरेक ने इसके साथ ही एक चार्ट भी शेयर किया जिसमें बताया गया कि किस बिल पर कितने समय के लिए चर्चा की गई। इनमें से सबसे कम समय में कोकोनट डेवलेपमेंट बोर्ड बिल पास किया गया। इस बिल पर सर्फ 1 मिनट की चर्चा हुई।

प्रह्लाद जोशी ने आगे बताया कि पीएम मोदी ने बीजेपी संसदीय दल की बैठक के दौरान आज कहा, ‘पापड़ी चाट बनाने वाला बयान अपमानजनक था। सदन में पर्चे फाड़कर फेंकना और उसके लिए माफी तक न मांगना, अहंकार था।’

हालांकि, बैठक में पीएम मोदी ने अपने सभी सांसदों से संयम बरतते हुए सदन की गरिमा बनाए रखने को भी कहा। एक सांसद ने हमारे सहयोगी हिन्दुस्तान टाइम्स से बीतचीत के दौरान बताया कि बैठक में पीएम मोदी ने सभी बीजेपी सांसदों से कहा कि सदन में कामकाज जारी रखना हमारी जिम्मेदारी है। 

बता दें कि यह एक हफ्ते में दूसरी बार है जब सदन की कार्यवाही ठप रहने की वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा। विपक्षी पार्टियां पेगासस हैकिंग और तीन कृषि कानूनों के मुद्दों को लेकर संसद में हंगामा जारी रखे हुए हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने कांग्रेस पार्टी को सदन की कार्यवाही न चलने का जिम्मेदार बताते हुए बीजेपी सांसदों से कहा था कि वे कांग्रेस की असलियत को सामने लाएं।

ताज़ा समाचार

YouTube
LinkedIn
Share