गुजरात के रास्ते हो सकता है आतंकी हमला – इंटेलिजेंस ब्यूरो

लखनऊ – इंटेलिजेंस ब्यूरो ने गुजरात पुलिस को आतंकी हमले की इनपुट को लेकर अलर्ट किया है। ब्यूरो का कहना है कि आतंकवादी कच्छ क्षेत्र में भारत-पाकिस्तान सीमा से होते हुए भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने का प्रयास कर सकते हैं।केंद्रीय एजेंसी के इनपुट के बाद, पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ की किसी भी कोशिश को विफल करने के लिए क्षेत्र में समुद्री और सीमा पुलिस कर्मियों को खासा चौकन्ना करते हुए तैनात कर दिया गया है।

ईस्ट कच्छ की पुलिस अधीक्षक परीक्षिता राठौड़ के मुताबिक, इलाके के ग्रामीणों और मछुआरों को भी खतरे के बारे में सतर्क कर दिया गया है। उन्हें किसी भी संदिग्ध गतिविधि या व्यक्ति  की सूचना मिलने पर उन्हें जल्द से जल्द अधिकारियों को रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है।  IPS अधिकारी ने कहा, “हमने यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक उपाय किए हैं कि इस तरह की घुसपैठ न हो। समुद्री और सीमा पुलिस की अधिक टीमों को सीमावर्ती क्षेत्रों में तैनात कर दिया गया है। इस क्षेत्र में रहने वाले निवासियों और मछुआरों को भी सतर्क कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि किसी भी संदिग्ध वाहन / नाव या किसी के द्वारा देखे गए व्यक्ति के मामले में हमें सूचित करने के लिए कहा गया है  ब्यूरो का मानना है कि पाकिस्तानी आतंकवादियों को इस क्षेत्र में भारतीय सैनिकों को निशाना बनाने के निर्देश दिए जाते हैं ।”

सुरक्षा एजेंसी का कहना है कि इन आतंकवादियों को कथित तौर पर भारत के खिलाफ गतिविधियों में भाग लेने के तथा  विरोध प्रदर्शन और पथराव करने के लिए कहा जाता है।  उन्हें विशेष रूप से भारतीय सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमला करने के लिए भी कहा गया है। भारत द्वारा धारा 370 को निरस्त करने की घोषणा के बाद के आतंकी वारदातों की आशंका बढ़ गई है। हिंदुस्तान सरकार द्वारा इस फैसले के बाद पाकिस्तान बौखला गया है। पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को लेकर  अंतरराष्ट्रीय  पटल पर आंदोलन कर कैम्पेन चला रहा है। लेकिन पाकिस्तान के समर्थन में टर्की के अलावा कोई देश सामने खुलकुर अब तक नहीं आ रहा है। अधिकांश देशों ने स्वीकार किया है कि जम्मू और कश्मीर का मसला भारतीय सरकार का आंतरिक मसला है।

रिपोर्ट – ग्राम्य संदेश डेस्क 

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn