भारत के प्रति वैश्विक भावना अनुकूल है: निर्मला सीतारमण

राज्यसभा में 2020-2021 के केंद्रीय बजट पर हुई चर्चा का केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को जवाब दिया। इस दौरान वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था के संकट में होने के विपक्ष के आरोपों को सिरे से खारिज दिया। उन्होंने कहा कि देश की नाममात्र जीडीपी 2014-15 में यूएस डॉलर 2 ट्रिलियन से बढ़कर 2019-20 तक 2.9 ट्रिलियन यूएस डॉलर हो गई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में कहा कि भारत के प्रति वैश्विक भावना अनुकूल मूड में है और यह उन निवेशकों के निवेश को देखा जाता है जो भारत में विश्वास दिखाना जारी रखते हैं। नेट एफडीआई प्रवाह 24.4 बिलियन है जो अप्रैल-नवंबर 2018-19 में 21.1 बिलियन की तुलना में अप्रैल-नवंबर 2019-20 में था।

सीतारमण ने कहा कि औद्योगिक गतिविधि में फिर से बढ़ोत्तरी देखी गयी है। अक्टूबर 2019 में 3.4% और सितंबर 2019 में 4.3% तक संकुचन की तुलना में नवंबर 2019 में IIP (इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन के सूचकांक) संख्या में 1.8% की संभावित वृद्धि दर्ज की गई है।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn