RSS प्रमुख मोहन भागवत ने CAA और NRC पर दिया मुसलमानों को भरोसा, कहा- निभा रहे हैं विभाजन के समय किया गया वादा

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को लेकर देश के मुसलमानों को भरोसा देते हुए कहा है कि उन्हें इससे कोई नुकसान नहीं होगा। आरएसएस प्रमुख ने यह भी कहा है कि अल्पसंख्यकों को लेकर विभाजन के समय जो वादा किया गया था, भारत उसका पालन कर रहा है, लेकिन पाकिस्तान ने ऐसा नहीं किया। भागवत ने कहा कि धर्मनिरपेक्षता, समाजवाद या लोकतंत्र भारत को दुनिया से सीखने की जरूरत नहीं है।

गुवाहाटी में एक कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा, ”CAA किसी भारत के नागरिक के विरुद्ध बनाया हुआ कानून नहीं है। भारत के नागरिक मुसलमान को CAA से कुछ नुकसान नहीं पहुंचेगा। विभाजन के बाद एक आश्वासन दिया गया कि हम अपने देश के अल्पसंख्यकों की चिंता करेंगे। हम आजतक उसका पालन कर रहे हैं। पाकिस्तान ने नहीं किया।”

भागवत ने कहा, ”हमें धर्मनिरपेक्षता, समाजवाद या लोकतंत्र दुनिया से सीखने की आवश्यकता नहीं है। यह हमारी परंपरा और खून में रहा है। हमारे देश ने इसे लागू किया और जीवित रखा।”

YouTube
LinkedIn
Share