अमेरिका भारत का ​हमेशा निष्ठावान मित्र रहेगा : डोनाल्ड ट्रंप

अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में आयोजित ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच स्वाभाविक और स्थाई मित्रता है, उनके देश के साथ संबंधों में भारत का विशेष स्थान है। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका भारत को पसंद करता है और उसका निष्ठावान मित्र बना रहेगा।

मोटेरा स्टेडियम में संबोधन से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ने साबरमती आश्रम पहुंचकर चरखा चलाया। इस आश्रम में महात्मा गांधी 1917 से 1930 तक स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान रहते थे। अहमदाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से आरंभ हुए रोड शो के तहत अमेरिकी राष्ट्रपति और उनकी पत्नी का काफिला आगे बढ़ा। ट्रंप दंपति राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से जुड़े महत्वपूर्ण स्थल साबरमती आश्रम पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहले ही साबरमती आश्रम पहुंच गए थे।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने सम्बोधन में कहा कि भव्य स्वागत के लिए शुक्रिया। पीएम मोदी एक अद्भुत नेता हैं, भारत के लिए दिन-रात काम करते हैं। उन्होने कहा कि मोदी ने एक विनम्र चायवाले के तौर पर शुरुआत की, उन्होंने चाय की एक दुकान में काम किया, वह इस बात का बेहतरीन उदाहरण हैं कि भारतीय किसी भी मुकाम पर पहुंच सकते हैं।

‘नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा अगले 10 साल में आपके देश से अत्यधिक गरीबी दूर हो जाएगी। लोगों को नियंत्रण में रखकर विकास करने वाले और उन्हें स्वतंत्रता देकर भारत की तरह विकास करने वाले देशों में अंतर है। ट्रंप ने कहा कि भारत ने व्यक्तिगत स्वतंत्रता, कानून के शासन, हर इंसान की गरिमा को अपनाया है, जहां लोग साथ में सौहार्द के साथ अपने धर्म का पालन कर सकते हैं। हम दुनियाभर में अपने गठबंधनों में तेजी से नई जान फूंक रहे हैं। हम मंगलवार को तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौते करेंगे।

स्वामी विवेकानंद के कथन को याद करते हुए ट्रंप ने कहा कि भारत और अमेरिका स्वाभाविक सहयोगी हैं। हिंदू, मुस्लिम, ईसाई और यहूदी, अमीर और गरीब सभी भारतीयों को अपने महान इतिहास और उज्ज्वल भविष्य पर गर्व करना चाहिए।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn