आफत बन कर बरस रही बारिश किसानों के लिए बनी मुसीबत

औरैया। लगातार हो रही बारिश किसानों के लिए आफत बन कर बरस रही है। तैयार खड़ी फसलों के खेतों में अधिक पानी भर जाने से पौधे पीले पड़ कर सड़ने लगे है तथा उनका गिरना शुरू हो गया है। फसलें रोग की चपेट में आ जाने से बर्बाद हो रही है। कुछ फसलों की कटाई के बाद सरसों तथा आलू की कच्ची फसल की बुआई होती है उनका भी समय निकल रहा है। जो खेत खाली पड़े हैं उनमें भी ज्यादा पानी भर जाने से सरसों तथा आलू की फसल की बुआई होना असम्भव लग रहा है।

बरसात के मौसम में सामान्य से कम बारिश होने से मजबूर होकर किसानों ने अपने संसाधनों से फसलों को सींचा था यदि बारिश ठीक होती तब किसानों का सिंचाई में आई लागत बच जाती। बरसात का मौसम निकल जाने के बाद लगातार हुई बारिश से फसलों को अधिक नुकसान हो रहा है। बाजरा की तैयार खड़ी फसल की बाली का फूल बारिश के पानी से झड़ जाने से बाजरा के दानों का बढ़ना रुक गया है। जिससे फसल के उत्पादन पर सीधा असर पड़ेगा। वहीं बाजरा की फसल के खेतों में अधिक पानी के भर जाने से पौधे पीले पड़ कर गिरना शुरू हो गए हैं। जिससे फसल के सड़ने की संभावना है फसल की पैदावार कम होने की सम्भावना से किसान चिन्तित है। तिल की फसल में पानी की कम आवश्यकता होती है। तिल की फसल पकने की अवस्था में थी। अधिक वर्षा हो जाने से तिल की फलियों में सुडी रोग लग जाने से फसल का फूल और फलियां काली पड़कर बर्बाद होने लगी है। पानी के भरे रहने से पौधे कमजोर होकर गिरने लगे हैं। धान की कुछ प्रजातियां कम समय में तैयार होकर कटने लगती है। खेतों में पीनी भरे होने से उनके देर से पकने की उम्मीद है तथा उनकी कटाई और मड़ाई में किसानों को अधिक व्यय ओर परेशानियाँ उठानी पड़ सकती है।

बारिश ने सरसों और आलू की कच्ची फसल का समीकरण भी बिगाड़ दिया है। पानी के कारण फसलों की कटाई समय से नहीं हो रही है और जो खेत खाली पड़े हैं उनमें भी खूब पानी भरा है जिससे सरसों तथा आलू की कच्ची फसल की बुआई नहीं हो सकी है। पानी से हुए नुकसान की थोड़ी बहुत भरपाई किसान सरसों और कच्ची आलू की फसल से कर सकते थे। अब उसकी भी सम्भावना न के बराबर है।
लगातार बारिश से हुए फसलों के नुकसान से किसानों को आर्थिक नुकसान होना तय माना जा रहा है,जानकार किसान बताते है कि तिल की फसल में किसानों की लागत भी मिलना मुश्किल लग रहा है।

रिपोर्ट
सुनील कुमार

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn