खेती में भी कोरोना से बचाव का ध्यान रखें किसान

रांची- देश के किसानों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए भारत सरकार की ओर से गाइडलाइन जारी किया गया है। गाइडलाइन में लॉकडाउन में पशु चिकित्सा अस्पताल, जिन मंडियों का संचालन कृषि उपज मंडी समिति या राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित हो, किसानों और खेत श्रमिक के द्वारा खेती कार्य, फॉर्म मशीनरी से संबंधित कस्टम हायरिंगग सेंटर, उर्वरक, कीटनाशक और बीज के विकास और पैकेजिंग में कार्यरत इकाई, बुवाई संबंधित मशीनों की अंतरराज्यीय आवाजाही में छूट दी गई है।

इसके साथ ही मोटे तौर पर किसान अपनी सुरक्षा इस महामारी में कैसे करें, इसके बारे में भी बताया है। इस बारे में बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक एवं डीन एग्रीकल्चर डॉ. एमएस यादव ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा किसानों को इस संकट से बचाने के लिए पहल शुरू कर दी गई है। अगर किसानों में कोरोना महामारी फैलने लगी तो बड़ी मुश्किल हो जाएगी। इसलिए फसल कटाई में यथासंभव मशीन चालित यंत्रों का उपयोग करने की हिदायत दी गई है।

बताया गया है कि अगर किसान हस्त चालित कृषि उपकरणों के उपयोग में पूरे दिन काम करता है तो दिन में कम से कम तीन बार साबुन के पानी से धोकर उपकरणों को कीटाणु रहित जरूर करें। इसके साथ सरकार द्वारा फसल कटाई में किसानों को शारीरिक दूरी पर विशेष ध्यान दिये जाने की जरूरत है। खेतों में फसल कटाई एवं खाना खाने के समय दो व्यक्तियों के बीच की कम से कम पांच मीटर की दूरी रखना चाहिए। खाने-पीने का बर्तन बिल्कुल अलग-अलग रखें, उन्हें साबुन के पानी से अच्छी तरह धोकर ही उपयोग में लाएं।

कृषि कार्य के समय खेतो में पर्याप्त मात्रा में पीने का पानी और साबुन की व्यवस्था रखें। फसल की कटाई के समय एक व्यक्ति द्वारा उपयोग में लाया जाने वाला उपकरण दूसरा व्यक्ति प्रयोग नहीं करे। कृषि कार्य से जुड़े व्यक्ति अपना अलग-अलग कृषि उपकरण रखें। गाइडलाइन में कहा गया है कि किसान फसल कटाई के समय अपनी अलग -अलग पानी की बोतल रखें। थोड़े-थोड़े अंतराल में पानी का सेवन करें।

फसल कटाई के दौरान बीच-बीच में अपने हाथों को अच्छी तरह पानी से धोते रहें। कृषि कार्य में पहले दिन पहने कपड़ों को दूसरे दिन नहीं पहनें। कपड़ों को अच्छी तरह साबुन से धोकर धूप में पूरी तरह सुखाकर ही फिर से पहनें। डॉ. यादव ने किसानों को सरसों एवं तीसी फसल की अविलंब कटाई करने की सलाह दी है। फसल परिपक्व होने पर अन्य खड़ी फसलों की कटाई करने को कहा है।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn