बारिश-ओलावृष्टि से फसलें चौपट

लखनऊ – बारिश और तेज हवाओं ने फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया है। बड़े पैमाने पर गेहूं की फसल खेतों में बिछ गई है। सरसों का भी यही हाल हुआ। खेतों में खुदे पड़ा आलू बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। इस वक्‍त गेहूं, सरसों और आलू, तीनों ही फसलें तैयार होने की स्थिति में है। जिन किसानों ने अगैती आलू की बुवाई की थी, उन्होंने आलू की खोदाई भी शुरू कर दी है। इस बार आगरा मंडल में इन तीनों की फसलों के बेहतर उत्पादन की उम्मीद थी, परंतु बारिश से अब उत्पादन घटने की आशंका जताई जा रही है।

किशनी क्षेत्र में भी सबसे ज्यादा नुकसान गेहूं और सरसों को ही हुआ है। मधुकरपुर के किशन लाल का तो पांच बीघा गेहूं खेतों में बिछ गया है। इसी तरह गांव शमशेरगंज, बसेत, जटपुरा, समान, खिदरपुर, नुनारी, नगला तारा, पडोली, विरीतिया, कमलनेर, हिरोली, बढोली, बारिया, आदि जगहों पर सैकड़ों किसानों की फसल चौपट हो गई।

जिले के सैकड़ों किसानों को इससे पहले धान व ज्वार की फसलों में भी नुकसान झेलना पड़ा था। तब भी मौसम की मार से फसल बर्बाद हुई थी। अब गेंहू, आलू और सरसों में हुए नुकसान के बाद किसान सदमे में डूबा हुआ है। जिले में गेहूं का रकबा काफी अधिक है। गेहूं को बारिश से ज्यादा तेज हवाओं ने नुकसान पहुंचाया। ज्यादातर क्षेत्रों में गेहूं पर बालिया निकल कर फूल पड़ चुका था। तेज हवाओं के चलते फसल धराशायी हो गई और फूल झड़ गया है, किसानों का कहना है कि अब दोबारा बालियां नहीं आएंगीं।

गेहूं जैसा ही हाल सरसों की फसल का भी हुआ है। जिले में सरसों भी पकने की स्थिति में थी। फूल आ चुका था, परंतु शनिवार को चली तेज हवाओं ने बड़े पैमाने पर फसल को धराशायी कर दिया। किसानों का कहना है कि सरसों में 50 फीसद तक का नुकसान होने की आशंका है। आलू में मुनाफे के चलते इसकी खेती भी बड़े पैमाने पर हो रही है। जिले में आलू खोदाई की छिटपुट शुरुआत भी हो चुकी है। ये आलू खेतों में ही पड़ा हुआ था, शनिवार को हुई बारिश से खेतों में पानी भर गया है। इससे फसल खराब हो रही हे। किसानों का कहना है शेष फसल को भी नुकसान हो गया है।

बारिश से गेहूं की फसल पूरी तरह से चौपट हो गई है। हमारी सारी मेहनत और लागत मिट्टी में मिल गई है। अब इस फसल का पुन: खड़ी होना मुश्किल है। किसान दिवारीलाल बताते हैं कि मौसम ने इस साल भी किसानों पर मार की है। अब सरकारी सहायता की आशा है, क्योंकि यदि सहायता नहीं मिली तो किसान बर्बाद हो जाएंगे।गेहूं-सरसों का नुकसान तो सामने नजर आ रहा है। जो आलू खुदाई के लिए तैयार है, उसको भी नुकसान हुआ है। खोदाई के बाद यह सामने आएगा।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn