कोरोना संकट से कारोबार पर बुरा असर

नई दिल्ली- कोरोना संकट से निपटने के लिए फूड डिलिवरी कंपनी Zomato ने अपने डिलिवरी पर्सन औऱ रेस्टोरेंट पार्टनर की मदद के लिए कई कदमों का ऐलान किया है। कंपनी के सीईओ दीपेंदर गोयल के मुताबिक कंपनी का कैश फ्लो बचाने के लिए कर्मचारियों ने खुद ही आगे बढ़कर अपनी सैलरी में कटौती का प्रस्ताव किया है। वहीं कंपनी के मुताबिक वो डिलिवरी पार्टनर फंड में भी रकम दे रहे हैं। जिससे कंपनी के साथ जुड़े कारोबारियों और लोगों के इस मुश्किल वक्त में मदद की जा सकेगी। कंपनी ने साथ ही गरीबों को खाना खिलाने की पहल का भी ऐलान किया है।

कंपनी ने इसके साथ ही अपने कारोबारी पार्टनर, फूड डिलिवरी रेस्टोरेंट पार्टनर को रोजमर्रा के कामकाज के लिए कर्ज के रूप में मदद देने का भी ऐलान किया है। कंपनी के मुताबिक उनके ये पार्टनर मौजूदा परिस्थितियों में काफी नुकसान उठा रहे हैं।

सीईओ ने साफ कहा कि फिलहाल कारोबार के लिए काफी मुश्किल की घड़ी है। वो लगातार अथॉरिटी और सरकार से फूड डिलिवरी को लेकर बात कर रहे हैं। उनके मुताबिक फूड डिलिवरी को लेकर जो संदेह है उन्हे दूर करने की कोशिश की जा रही है। कंपनी ने पहले ही बताया था कि वायरस से संक्रमण के डर की वजह से लोगो ने बाहर खाना लगभग बंद कर दिया है, इससे रेस्टोरेंट से लेकर फूड डिलिवरी कारोबार पूरी तरह से ठप पड़ गया है।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn