प्रदूषण की रोकथाम के लिए जरुरी है भठ्ठियों पर पाबंदी

रेउसा, सीतापुर –  जिले में अगर कोई किसान धान व गन्ने की पराली जलाने वाले किसानों पर होते हैं मुकदमे पर सीतापुर जिले में हजारों की संख्या में ग्रामीण क्षेत्रों में गन्ना गुड़ भट्टियां चलाई जा रही हैं ।जिनकी चिमनीयों से लगातार जहर उगला जा रहा है क्या प्रशासन इन पर भी कोई कार्यवाही करेगा सोच का विषय है ।किसानों से यह लोग पत्थर के वाटो से ओने पौने दामों में गन्ना खरीदते हैं। किसानों की समस्या का समाधान सरकार के पास ना तो है ना ही होगा क्योंकि किसान बेचारा मंडी मे धान गेहूं लेकर जाए तो भी सरकारी रेट में धान गेहूं नहीं खरीदा जाता है ।

उसको बहानेबाजी करके कम दामों में खरीद लिया जाता है ।और सरकार को सरकारी रेट दिखा दिया जाता है।जिसका जीता जागता उदाहरण बिकास खण्ड रेउसा इलाके के शेखनपुरवा,मोगलनपुरवा ,थानगांव,मियांपुरवा,खुरवालिया,बम्भनावा,रेउसा में लकड़ी मंडी ,मुरतपुर, हलीमनगर, बिकास खण्ड बिसवाँ इलाके में सबसे ज्यादा गुड़ भट्टियां चल रही हैं, वह छेत्र है, कोठार,जहांगीराबाद, मानपुर,रामपुरकला आदि जगहों पर जिले के विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से यह धंधा सीतापुर जिले में खूब फल फूल रहा है

रिपोर्ट – रामकिशोर अवस्थी

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn