कृषि विभाग मस्त किसान पस्त

अंबेडकरनगर। जनपद में कृषि विभाग सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजना को दबा कर बैठी है। लाखों रुपए का पंपलेट कृषि विभाग कार्यालय के कोने में धूल फांक रही है।

किसानों को जागरूक करने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन किया है। प्रचार प्रसार के लिए अतिरिक्त धन पंपलेट सरकार द्वारा कृषि विभाग को मुहैया कराई जाती है। प्रचार प्रसार में प्रतिजनपद में लाखों रुपए का खर्च दिखाया जाता है। परंतु आज भी गांव देहात के किसान लाभ पाने से वंचित है। सरकार द्वारा किसानों के कल्याणकारी चलाई रही है। विभिन्न योजनाओं जनपद अंबेडकरनगर कृषि विभाग चुनिंदा किसानों को ही उपलब्ध कराता है जो बीच के बिचौलिए का काम करता है। किसान मेला हुआ किसान गोष्टी इन सब व्यय के आंकड़ों एवं जागरूकता में उपस्थित किसान के नाम अधिकांश वास्तविक की धरातल से अलग ही होता है। सरकार की योजना किसानों की समृद्धि करने के लिए जा रही है परंतु आज भी जानकारी के अभाव में अधिकांश किसान बिचौलियों के हाथ ही कठपुतली उनका शोषण बिचौलिए के द्वारा लगातार जारी है। किसान विभाग के अधिकारी और कर्मचारी आम किसान की परेशानी से कोई मतलब नहीं है।

रिपोर्टर
गोविंद साहू

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn