अब आसानी से ढूंढे जा सकेंगे चोरी या गुम हुए मोबाइल फोन

चोरी या गुम हुए मोबाइल को खोजने के लिए जल्द ही सरकार एक ट्रैकिंग सिस्टम लॉन्च करने वाली है, जिसके जरिए फोन से सिम कार्ड निकाल देने पर भी इसे आसानी से ट्रैक किया जा सकेगा। इतना ही नहीं, यूनीक कोड IMEI नंबर बदल देने के बावजूद आपके गुम हुए फोन को आसानी से ट्रैक करके उसे ढूंढा जा सकेगा।

विभाग के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि सेंटर फॉर डिवलपमेंट ऑफ टेलिमैटिक्स (C-DoT) इस टेक्नॉलजी के साथ तैयार है और अगले महीने यानी अगस्त में इस सर्विस को लॉन्च किए जाने की भी उम्मीद है।

टेलिकॉम डिपार्टमेंट (DoT) ने फोन की जालसाजी और चोरी में कमी लाने के लिए जुलाई 2017 में मोबाइल फोन ट्रैकिंग प्रॉजेक्ट ‘सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर (CEIR)’ को शुरू किया था। सरकार ने देश में सीईआईआर के सेटअप के लिए 15 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव रखा है, जो मोबाइल फोन की चोरी और नकली फोन के धंधे को कम करने के लिए काम करेगा।

किसी भी चोरी या खोए हुए मोबाइल फोन के किसी भी नेटवर्क पर सभी सर्विसेज को सीईआईआर सिस्टम ब्लॉक कर देगा, भले ही सिम कार्ड हटा दिया गया हो या हैंडसेट का आईएमईआई नंबर बदल दिया गया हो। यह सिस्टम सभी मोबाइल ऑपरेटरों के IMEI डेटाबेस को कनेक्ट करेगा। यह सभी नेटवर्क ऑपरेटर्स के लिए सेंट्रल सिस्टम की तरह काम करेगा, जहां वे ब्लैक लिस्ट किए हुए मोबाइल टर्मिनल को शेयर कर सकेंगे ताकि किसी भी नेटवर्क में ब्लैकलिस्ट की गई डिवाइस दूसरे नेटवर्क में काम न करे, फिर चाहे सिम कार्ड बदल ही क्यों न दिया गया हो।

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn