आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में मनाया गया ओरल हाइजीन डे

सैफई। उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई के डेन्टल विभाग द्वारा ओरल हाइजीन डे मनाया गया। इस अवसर पर स्वस्थ मुख है सेहद का आधार विषय पर कार्यशाला तथा दांतों से सम्बन्धित विशेष जाॅच शिविर का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन विश्वविद्यालय के चिकित्सा अधीक्षक डा. आदेश कुमार ने किया।

ओरल हाइजीन डे पर बोलते हुए विश्वविद्यालय के चिकित्सा अधीक्षक डा. आदेश कुमार ने कहा कि दांतों का स्वस्थ होना हमें कई बीमारियों से बचाता है। जबकि आमतौर पर दांतों से जुडी बीमारियों को हर कोई नजरअंदाज करता है जो आगे चलकर बड़ी एवं गंभीर बीमारियों को निमंत्रण देती है। उन्होंने कहा कि भारत में करीब 30 फीसदी ओरल कैंसर के मरीज है तथा ओरल कैसर का एक प्रमुख कारण लापरवाही है। शुरूआत में चिकित्सक को न दिखाने के कारण इसका पता एडवांस स्टेज में सामने आता है। डेन्टल विभाग के विभागाध्यक्ष डा. अतुल कुमार सिंह तथा एसोसिएट प्रोफेसर डा. राजेश कुमार ठाकुर ने बताया कि दांतों तथा मसूड़ों की सही तरह से सफाई करके हम कई तरह की दांतों की बीमारियों से बच सकते हैं। डा.राजेश ने बताया कि मुंह के कैंसर का एक प्रमुख कारण पान मसाला, तम्बाकू व गुटका जैसी चीजों का लगातार सेवन करना है। उन्होंने कहा कि यदि समय पर दांतों की जाॅच करायी जाये तो कैंसर को शुरूआती चरण में ही रोका जा सकता है।

डेन्टल विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डा. विपिन कुमार यादव तथा फैकेल्टी मेम्बर डा. राहुल मिश्रा ने बताया कि अगर हम डेली हाइजीन के दौरान थोड़ा ध्यान अपने मुॅह की सही तरीके से सफाई पर दें तो तमाम तरह की मुंह की बीमारियों से बच सकते हैं। डा. राहुल ने बताया कि सही तरीके से ब्रश करने के अलावा दिन में दो बार ब्रश करना, खाने के बाद कुल्ला करना, चाकलेट तथा कैफीन आदि का कम सेवन करना तथा सबसे जरूरी पान मसाला और धूम्रपान से दूर रहकर दांतों की सही देखभाल की जा सकती है।

इस अवसर पर डेन्टल विभाग के विभागाध्यक्ष डा. अतुल कुमार सिंह, फैकेल्टी मेम्बर डा. राजेश कुमार ठाकुर, डा. विपिन कुमार यादव, डा. राजमंगल यादव, डा. राहुल मिश्रा, डा. विजय मिश्रा, डा. गौरव जैन, डा. अनुज सविता के अलावा सीनियर एवं जूनियर रेजिडेन्ट तथा विश्वविद्यालय के जनसम्पर्क अधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय उपस्थित रहे।

रिपोर्ट
सुनील कुमार

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn