पाकिस्तान ने भारतीय फिल्मों पर लगाई रोक

भारत के अनुच्छेद 370 के पहले खंड को छोड़कर बाकी खंडों को खत्म करने के फैसले से पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। इस फैसले के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने व्यापारिक और कूटनीतिक रिश्तों को कम कर दिया।इसी में एक और कदम आगे बढ़ते हुए उसने भारतीय फिल्मों को पाकिस्तान में रिलीज करने से मना कर दिया है। ऐसा करने के बाद अब एक बार फिर पाकिस्तान मुंह की खाने को तैयार है।

न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के सहयोगी डॉ फिरदौर आशिक एवान ने कहा कि अब पाकिस्तान में भारतीय फिल्में नहीं दिखाई जाएंगी। ये पहला मौका नहीं है जब पाकिस्तान ने भारतीय फिल्मों अपने देश में दिखाने से मना किया है। इससे पहले भी वह ऐसे फैसले लेता रहा है।

पाकिस्तान की इस हरकत के बाद भारत के ऑल इंडिया सिने वर्कस एसोसिएशन(AICWA) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बॉलीवुड में पाक कलाकारों पर ब्लैंकेट बैन (पूर्णत: प्रतिबंध) की मांग की है। ऑल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।

एसोसिएशन के प्रेसिडेंट सुरेश गुप्ता ने गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बधाई दी है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि पाकिस्तान द्वारा भारतीय फिल्मों को बैन किए जाने पर ऑल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन फिल्म इंडस्ट्री, फिल्म फ्रेटरनिटी से आग्रह करती है कि पाकिस्तानी कलाकारों, संगीतकारों और राजनयिकों पर बैन लगाया जाए। पत्र में आगे लिखा है कि AICWA इस बात की मांग करता है कि पाकिस्तान से किसी मामले पर बात न की जाए। जब तक पाकिस्तानी फिल्म मेकर्स, कलाकारों और ट्रेड पार्टनर्स को बैन नहीं किया जाएगा कोई भी काम नहीं करेगा।

ग्राम्य संदेश डेस्क

Facebook
Twitter
YouTube
LinkedIn